शीघ्र पतन भगाने के १६ घरेलु उपाय

शीघ्र पतन प्रायः उन लोगों को होता है जो प्रकृति विरूद्ध सहवास की प्रक्रिया अपनाते हैं । हस्त मैथुन , मुख मैथुन करते हैं ।  या अत्यधिक अश्लील साहित्य पढ़ते हैं अथवा अत्यधिक सम्भोग में रत रहते हैं ।

शीघ्र पतन भगाने के १६  घरेलु उपाय 

         Photo courtesy - pxhere.com

शीघ्र पतन प्रायः उन लोगों को होता है जो प्रकृति विरूद्ध सहवास की प्रक्रिया अपनाते हैं । हस्त मैथुन , मुख मैथुन करते हैं । या अत्यधिक अश्लील साहित्य पढ़ते हैं अथवा अत्यधिक सम्भोग में रत रहते हैं । इस बीमारी का प्रमुख लक्षण यह है कि संभोग के समय पुरूष स्त्री को संतुष्ट करने से पूर्व ही स्खलित हो जाता है । और इसी को शीघ्रपतन कहते हैं । कई बार तो स्त्री का आलिंगन करने या चुम्बन लेने मात्रा से ही पुरूष स्खलित हो जाता है । लेकिन घरेलू चिकित्सा करने और अच्छा साहित्य पढ़ने से यह बीमारी आसानी से दूर हो सकती है । 

इसके कुछ घरेलू नुस्खे इस तरह है । 


  1. प्रातःकाल खाली पेट एक पका हुआ केला एक चम्मच गाय के घी के साथ लगातार एक महीने खाने से यह बीमारी दूर होती है । 
  2. उड़द का आटा घी में भूनकर और चीनी की जगह मिश्री डाल कर हलवा बनायें तथा अपनी पाचनशक्ति के अनुसार प्रातः काल खायें । लगातार खाने से शीघ्रपतन कम होता जायेगा । 
  3. बबूल की कच्ची कली + बबूल की कोमल पत्तियाँ बबूल का गोद समान मात्रा में सुखाकर कूट लें । कुल वजन के बराबर मिश्री मलायें और पाउडर को छान लें । अब इसमें से एक चम्मच पाउडर को रात्रि में सोते समय और प्रातःकाल गर्म दूध में सेवन करें इससे शीघ्रपतन दूर होगा तथा स्तम्भन शक्ति बढ़ेगी । 
  4. 10 ग्राम घी +5 ग्राम शहद + 10 ग्राम मुलहठी मिलाकर चाटें तथा गर्म दूध भी पीयें यह सहवास के पश्चात ही लें तो शीघ्रपतन धीरे - धीरे दूर होगा तथा कमजोरी भी नहीं होगी । 
  5. सूखा धनियाँ मिश्री बराबर मात्रा में मिलाकर पाउडर बनायें प्रतिदिन सुबह ठंडे पानी में लेने पर काफी लाभ मिलेगा । 
  6. लाजवंती के बीज + मिश्री बराबर मात्रा में लेकर सूखा पाउडर बनायें तथा प्रातः दूध के साथ लें । इससे वीर्य में गाढ़ापन बढ़ेगा ।
  7. तुलसी के बीज + मिश्री को बराबर की मात्रा में मिलाकर पाउडर बनायें * तथा प्रात : दूध के साथ सेवन करें ।  
  8. छुआरे की खीर बनाकर ठंडा करके खायें इससे वीर्य पुष्ट होगा ।  
  9. दालचीनी का तेल तथा जैतून का तेल बराबर मात्रा में मिलाकर उससे रात को सोने से पूर्व लिंग की मालिश करें तो लिंग में कठोरता आयेगी । 
  10. 10 ग्राम अजवायन तथा 20 ग्राम प्याज का रस मिलाकर पेस्ट बना लें इस पेस्ट को घी तथा शक्कर के साथ खायें । एक - दो महीने तक लेने से शीघ्रपतन दूर होगा । 
  11. सरसोंअरण्ड के बीज बराबर मात्रा में लेकर पाउडर बनालें तथा तिल के तेल में मिलाकर लिंग की मालिश करें । 
  12. लौंग का तेल लिंग पर लगाकर सहवास करने से शीघ्रपतन दूर होता है । 
  13. 8 बादाम की मिगी +8 दाने कालीमिर्च +5 ग्राम सौंठतथा मिश्री मिलाकर पीस लें तथा प्रतिदिन सुबह दूध के साथ लें । स्तम्भन शक्ति बढेगी । 
  14. सिलाह मुसली + सफेद मुसली+ गिलोय का सत +विदारीकंद +कौंच के बीज + गोखरू ढाक की गोंद +बबूल की गोंद प्रत्येक को बराबर मात्रा में लेकर उसका पाउडर बना लें तथा प्रातःकाल एक चम्मच दूध के साथ सेवन करें । शीघ्रपतन में लाभ होता तथा स्तम्भन शक्ति बढ़ेगी तथा वीर्य भी गाढ़ा होगा । 
  15. बरगद के कच्चे फल सुखाकर चूर्ण बनायें तथा सुबह - शाम गाय के दूध में घी डालकर और दो चम्मच पावडर डालकर प्रतिदिन पीयें । शरीर को ताकत मिलती है । 
  16.  सत गिलोय और वंश लोचन को बराबर मात्रा में मिलाकर पावडर बनायें तथा एक चम्मच शहद के साथ लें ।  शीघ्रपतन ठीक हो जायेगा ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां